Chhattisgarh

मनरेगा ने बदली जयलाल की जीवनशैली,  

सूरजपुर

विकासखंड ओड़गी जो कि छत्तीसगढ़ राज्य के उत्तरी सीमा पर स्थित है। यहां का भौगोलिक स्थिति बहुत बीहड़ है। आवागमन के साधनों से विहिन कई ग्राम पंचायत हैं। साथ ही किसी प्रकार का दूरसंचार का साधन एवं विद्युत व्यवस्था विहीन है। पहाड़ों से घिरे पूर्णतः आदिवासी जनसमुदाय से युक्त इस विकासखंड के कई ग्राम पंचायत के लोग आधुनिक विकास की धारा से पूर्णरूप से अनभिज्ञ हैं। ऐसा ही एक ग्राम पंचायत चपदा है। जो विकासखंड से लगभग 10 किमी की दूरी पर पहाड़ों से घिरा ग्राम पंचायत है। यहां के लोग मेहनत मजदूरी कर अपना गुजर-बसर करते हैं। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के बाद ग्रामों में अमूलचूल परिवर्तन देखने को मिलता है। जहां लोगों को आसानी से कार्य उपलब्ध हो जाता है। वहीं लोग शासन की योजनाओं से लाभ प्राप्त कर रहे है तथा अपने अधिकारों के प्रति सजग हैं।
ग्राम पंचायत चपदा के मूल निवासी श्री जयलाल पिता श्री अर्जुन राम जिसके पास लगभग 2 एकड़ भूमि है। किन्तु पूर्व में इनके पास सिंचाई का साधन नहीं होने के कारण इनकी आय सीमित थी तथा आय सीमित होने के कारण इनके द्वारा अपने परिवार के साथ महात्मा गांधी नरेगा में आय हेतु मजदूरी करते रहते थे। एक दिन इनको जब पता चला कि महात्मा गांधी नरेगा योजना से कुआं भी स्वीकृत होता है तो इनके द्वारा कूप निर्माण संबंधी जानकारी ग्राम पंचायत से प्राप्त कर आवश्यक दस्तावेज जमा किया गया। तत्पश्चात जिला कार्यालय से स्वीकृति प्राप्त होते ही हितग्राही श्री जयलाल पिता श्री अर्जुन राम के निजी भूमि में कूप निर्माण का कार्य प्रारंभ करा दिया गया। जिसको मात्र 8 माह के भीतर कूप निर्माण पूर्ण किया गया। इसके बाद से श्री जयलाल पिता श्री अर्जुन राम ने अपने भूमि में आलू, गोभी, बैगन, लौकी, भाजी, टमाटर, मटर एवं समय-समय पर अन्य मौसमी सब्जी आदि की खेती करना प्रारंभ किया। इनके द्वारा रबी एवं खरीफ दोनो ऋतुओं में सब्जी एवं अन्य फसलों का उत्पादन कर विक्रय किया जा रहा है। जिससे प्रति ऋतु में 60 से 70 हजार रूपये की  आमदनी की जा रही है। जिससे इनके जीवनशैली में अमूलचूल परिवर्तन हो रहा है तथा हितग्राही ने बताया कि शासन के इस योजना से कूप निर्माण होने के कारण हमारी आय में वृद्धि हुई है एव हम अपने परिवार के साथ खुशहाली से जीवन यापन कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *